जिंदगी बदल देंगी ये कहानियाँ | 3+ Best Motivational Stories in Hindi

Motivational Stories in Hindi: Hello friends, how are you? Today I am sharing the 3 best motivational stories in Hindi for success. These motivational Hindi stories are very valuable and give very good motivation for success in life. 

आज के इस आर्टिकल मे मै आप के साथ 3 best motivational story in Hindi share कर रहा हूँ। ये हिंदी प्रेरणादायक कहानियाँ छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी होगी। ये सभी कहानियों के अंत मे नैतिक शिक्षा दी गयी हैं। जो छात्रों को लोगों और दुनिया को समझने मे बहुत मदद करेगी।

आईये इन Best Motivational Stories in Hindi को पढ़ते हैं।

{tocify} $title={Table of Contents}

जिंदगी बदल देंगी ये कहानियाँ - Best Motivational Stories in Hindi

जिंदगी बदल देंगी ये कहानियाँ | 3+ Best Motivational Stories in Hindi


गर्भवती हिरणी - हिंदी प्रेरणादायक कहानी

1st Motivational Story in Hindi


जंगल में एक गर्भवती हिरणी बच्चे को जन्म देने को थी। वो एकांत जगह की तलाश में घूम रही थी, कि उसी नदी किनारे ऊँची और घनी घास दिखी। उसे वो उपयुक्त स्थान लगा शिशु को जन्म देने के लिए। वहां पहुंचते ही उसे प्रसव पीड़ा शुरू हो गई। 

उसी समय आसमान में घनघोर बादल वर्षा को आतुर हो उठे और बिजली कड़कने लगी। उसने दाएं देखा, तो एक शिकारी तीर का निशान उसकी तरफ साध रहा था। घबराकर वह दाहिने मुड़ी, तो वहां एक भूखा शेर झपटने को तैयार बैठा था। 

सामने सूखी घास आग पकड़ चुकी थी आग और पीछे मुड़ी, तो नदी में जल बहुत था। मादा हिरनी क्या करती? वह प्रसव पीड़ा से व्याकुल थी। अब क्या होगा? क्या हिरणी जीवित बचेगी? क्या वो अपने को जन्म दे पाएगी? क्या शावक जीवित रहेगा। 

क्या जंगल की आग सब कुछ जला देगी? क्या मादा हिरणी शिकारी के तीर से बच पाएगी? क्या मादा हिरनी भूखे शेर का भोजन बनेगी ? वो एक तरफ आग से घिरी है और पीछे नदी है। क्या करेगी वो? हिरणी अपने आप को शून्य में छोड़, अपने बच्चे को जन्म देने में लग गई। 

कुदरत का करिश्मा किए देखिए। बिजली चमकी और तीर छोड़ते हुए शिकारी की आंखें चौधिया गई। उसका तीर हिरनी के पास से गुजरते, शेर की आंख में जा लगा, शेर दहाड़ता हुआ इधर-उधर भागने लगा। और शिकारी, शेर को घायल जान कर भाग गया। घनघोर बारिश शुरू हो गई और जंगल की आग बुझ गई। हिरनी ने शावक को जन्म दिया। 

शिक्षा - Moral of this Hindi Motivational Story

हमारे जीवन में कभी कभी कुछ क्षण ऐसे आते हैं, जब हम चारों तरफ से समस्याओं से घिरे होते हैं और कोई निर्णय नहीं ले पाते। तब सब कुछ नियति के हाथों सौंपकर अपने उत्तरदायित्व व प्राथमिकता पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। निर्णय ईश्वर करता है हमें उस पर विश्वास कर उसके निर्णय का सम्मान करना चाहिए। 

दुनिया भर की संस्कृतियों ने हमेशा से ही विश्वास, परंपराओं, इतिहास और ज्ञान को भविष्य की पीढ़ी तक पहुंचाने के लिए कथाओं / कहानियों का उपयोग किया है। क्योंकि कहानियों से बड़ी से बड़ी बात भी मनोरंजक तरीके से सभी को समझाई जा सकती है।


नया मोबाइल चाहिए - Hindi Motivational Story

2nd Motivational Story in Hindi


एक लड़के ने अपने पिता से कहा - पापा मुझे नया मोबाइल चाहिए। पिता ने कहा - बेटा, कुछ दिन रुक जा फिर तुझे नया मोबाइल दिला दूंगा। बेटे ने कहा आपके पास मेरे लिए कभी पैसे नहीं होते हैं। मेरे सब दोस्त अच्छे से रहते हैं किसी के पास कोई कमी नहीं है केवल मेरे पास ही हर चीजों की कमी होती है। पापा, बच्चे पैदा करना बेहद आसान है लेकिन उन्हें पालना बेहद मुश्किल। जब आप मेरी जरूरत ही पूरी नहीं कर सकते तो क्या मतलब इस घर में रुकने का। मैं घर छोड़कर जा रहा हूं। 

माता और पिता ने बेटे को रोकने और समझाने की काफी कोशिश की लेकिन, वो नहीं रुका। गुस्से में उसने बैग पैक किया और घर से निकल पड़ा। लेकिन घर से निकलते वक्त गलती से उसने अपने पिता की डायरी बैग में डाल ली। पिता की आदत थी वो हमेशा डायरी लिखा करते थे और उनकी डायरी छूने की परमिशन किसी को भी नहीं थी। लड़का घर से काफी दूर आ गया और थक कर बैठ गया। 

जब उसने वो डायरी देखी थी उसने सोचा, आखिरकार मिल गया खजाना, आज पता चल जाएगा मेरे पिताजी ने कहां-कहां दौलत छुपा रखी है और उन्हें किन-किन लोगों से पैसे लेने हैं। सारा का सारा लेखा-जोखा आज मुझे मिल जाएगा। बेटे को लगा इस डायरी में पिताजी के सारे लेन-देन का हिसाब होगा। जैसे ही लड़के ने उस डायरी को पढ़ना शुरू किया उसकी आंखों से आंसू बहने लगे। 

डायरी के शुरुआती पन्नों में बेटे को जो बाइक दिलाई थी उसका हिसाब लिखा था जिसकी emi पिताजी अब तक चुका रहे थे। दूसरे पन्नों में उसके कॉलेज की फीस और एडमिशन का कर्ज लिखा था कि इन इन लोगों को इतने पैसे वापस देने हैं। और सबसे आखिरी पन्ने पर लिखा था बेटे को अब मोबाइल दिलाना उसके लिए मुझे कौन-कौन कर्ज दे सकता है उस सभी लोगों के नाम लिखे हुए थे। बेटे ने जैसी सब पढ़ा वो पागलों की तरह रोने लगा और रोते रोते दौड़ता भागता घर आया। 

जैसे ही उसने अपने घर आकर देखा माता-पिता कोने में बैठे रो रहे हैं। बेटा अपने पिता के पैरों में गिर कर रोने लगा पिताजी मुझे माफ कर दो। पिता ने कहा बेटा तू मत रो तुझे मोबाइल मिल जाएगा। बेटे ने कहा पिता जी मुझे आपसे कुछ नहीं चाहिए मुझे पता चल चुका है आप इस डायरी में हम लोगों से क्या छुपाते थे मैं अब आपको कोई काम नहीं करने दूंगा मैं मेहनत करके बड़ा आदमी बनूंगा और सब ठीक कर लूंगा। ये सुनकर पिताजी बेटे को गले से लगा लेते हैं। 

Moral of this Hindi Motivational Story

दोस्तों मां-बाप अपना पूरा जीवन, अपनी पूरी खुशी आपके लिए कुर्बान कर देते हैं लेकिन कुछ बच्चों को लगता है मां बाप ने कुछ नहीं किया वह कभी आपको अपनी समस्या नहीं बताते भले ही वह खुद कितनी भी समस्या से गुजर रहे हो। रिश्तेदार भी उन्हें नीचा दिखाते होंगे वो सह लेते होंगे, लोग भी ताने मारते होंगे वो सह लेते होंगे लेकिन आप से अपनी समस्या शेयर नहीं करते क्योंकि वह कभी आपको टेंशन में नहीं देखना चाहते हैं। 

अब आपका फर्ज बनता है अपने मां-बाप को अच्छी तरह रखना और उन्हें सारे सुख देना। ताकि वो भी अपने जीवन का बचा हुआ समय सुख में गुजार सकें। यदि आप नींद में सोए हो तो अब जाग जाइए और अपना कैरियर बना लीजिए क्योंकि अगर आप मां-बाप के रहते कुछ नहीं कर पाए तो बाद में आप सोने का महल बनवा लोगे उसमें भी आप को नींद नहीं आएगी। अपने जीवन में कुछ बेहतर कर लीजिए ताकि आपके माता-पिता को उम्र होने के बाद भी काम ना करना पड़े।

सबसे बड़ी समस्या - हिन्दी प्रेरणादायक कहानी

3rd Motivational Story in Hindi

बहुत समय पहले की बात है एक महा ज्ञानी पंडित हिमालय की पहाड़ियों में कहीं रहते थे। लोगों के बीच रह कर वह थक चुके थे और अब ईश्वर भक्ति करते हुए एक सादा जीवन व्यतीत करना चाहते थे। लेकिन उनकी प्रसिद्धि इतनी थी की लोग दुर्गम पहाड़ियों, संकरे रास्तों, नदी-झरनो को पार कर के भी उनसे मिलना चाहते थे। लोगों का मानना था कि यह विद्वान उनकी हर समस्या का समाधान कर सकता है। 

एक बार कुछ लोगों ने पंडित जी से मिलने का निश्चय किया और ढूंढते हुए उनकी कुटिया तक आ पहुंचे। 

पंडित जी ने उन्हें इंतज़ार करने के लिए कहा। तीन दिन बीत गए। धीरे-धीरे और भी कई लोग वहां पहुंच गए। जब लोगों के लिए जगह कम पड़ने लगी तब पंडित जी बोले, "आज मैं आप सभी के प्रश्नो का उत्तर दूंगा, पर आपको वचन देना होगा कि यहाँ से जाने के बाद आप किसी और से इस स्थान के बारे में नहीं बताएँगे। ताकि आज के बाद मैं एकांत में रह कर अपनी साधना कर सकूँ। चलिए अपनी - अपनी समस्याएं बताइये।"

यह सुनते ही किसी ने अपनी परेशानी बतानी शुरू की। लेकिन वह अभी कुछ शब्द ही बोल पाया था कि बीच में किसी और ने अपनी बात कहनी शुरू कर दी। सभी जानते थे कि आज के बाद उन्हें कभी पंडित जी से बात करने का मौका नहीं मिलेगा। इसलिए वे सब जल्दी से जल्दी अपनी बात रखना चाहते थे। 

कुछ ही देर में वहां का दृश्य मछली -बाज़ार जैसा हो गया और अंततः पंडित जी को चीख कर बोलना पड़ा, "कृपया शांत हो जाइये! अपनी - अपनी समस्या एक पर्चे पे लिखकर मुझे दीजिये।" 

सभी ने अपनी-अपनी समस्याएं लिखकर आगे बढ़ा दी। पंडित जी ने सारे पर्चे लिए और उन्हें एक टोकरी में डाल कर मिला दिया और बोले, "इस टोकरी को एक - दूसरे के पास कीजिये, हर व्यक्ति एक पर्ची उठाएगा और उसे पढ़ेगा। उसके बाद उसे निर्णय लेना होगा कि क्या वो अपनी समस्या को इस समस्या से बदलना चाहता है?" 

हर व्यक्ति एक पर्चा उठाता, उसे पढता और सहम सा जाता। एक - एक कर के सभी ने पर्चियां देख ली पर कोई भी अपनी समस्या के बदले किसी और की समस्या लेने को तैयार नहीं हुआ। 

सबका यही सोचना था कि उनकी अपनी समस्या चाहे कितनी ही बड़ी क्यों न हो बाकी लोगों की समस्या जितनी गंभीर नहीं है। दो घंटे बाद सभी अपनी - अपनी पर्ची हाथ में लिए लौटने लगे। वे खुश थे कि उनकी समस्या उतनी बड़ी भी नहीं है जितना कि वे सोचते थे। 

Moral of this Motivational Story in Hindi

Friends, ऐसा कौन होगा जिसकी life में एक भी problem न हो? हम सभी के जीवन में समस्याएं हैं। कोई अपनी health से परेशान है तो कोई lack of wealth से। हमें इस बात को accept करना चाहिए कि life है तो छोटी-बड़ी समस्याएं आती ही रहेंगी। ऐसे में दुखी हो कर उसी के बारे में सोचने से अच्छा है कि हम अपना ध्यान उसके निवारण में लगाएं। 

हमें लगता है कि सबसे बड़ी समस्या हमारी ही है पर यकीन जानिए इस दुनिया में लोगों के पास इतनी बड़ी -बड़ी problems हैं कि हमारी तो उनके सामने कुछ भी नहीं है। इसलिए ईश्वर ने जो भी दिया है उसके लिए thankful रहिये और एक खुशहाल जीवन जीने का प्रयास करिये।

More Inspiring Stories in Hindi:

Motivational Stories in Hindi for Students

Motivational Shayari in Hindi for Students Success

Motivational Speech for Students in Hindi

Moral Stories in Hindi for Class 9

दोस्तों यह थी 3 Best Motivational Story in Hindi. ये सभी कहानियाँ नैतिक है। और इन कहानियों से आप सभी को बहुत मदद मिलेगी। 

आप को ये Best Hindi Motivational Story कैसी लगी हमे comment मे जरूर बताएं। अगर आप को ये कहानियाँ अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर share करें। 

यदि आप इस ब्लॉग पर अपना कोई आर्टिकल publish करना चाहते है (Guest Post) तो कृपया अपनी पोस्ट हमारे Email Id - contact@fixxgroup.in पर भेजें। पसंद आने पर आपकी पोस्ट fixxgroup.in पर प्रकाशित की जाएगी। अधिक जानकारी के लिए Guest Post Page पर जाएं।

नोट: free ई-मेल subscription ले और अपने ईमेल पर सभी नवीनतम जानकारी प्राप्त करें।

All the Best!

Post a Comment

Previous Post Next Post