"Rich Dad Poor Dad" Book Summary in Hindi [Robert Kiyosaki]

Rich Dad Poor Dad Summary in Hindi: दुनिया मे किसी भी इंसान के द्वारा financial freedom हासिल करने के लिए उसकी फाइनेंशियल एजुकेशन का मजबूत होना सबसे ज्यादा जरूरी होता है।

Expert की अगर मानें तो financial education को बढ़ाने का सबसे अच्छा तरीका है किताबें पढ़ना। यही वजह है कि दुनिया में बहुत सी किताबें इस topic के ऊपर लिखी जाती है और अमेरिकन लेखक रॉबर्ट कियोसकी के द्वारा लिखी गई Rich Dad Poor Dad नाम की किताब भी दुनिया के उन्ही किताबों मे से एक है। जिसे बहुत से लोग अपना गोल प्राप्त करने और कामयाबी हासिल करने के लिए पढ़ते हैं।

तभी तो financial education के मामले में इस को दुनिया के सबसे फेमस किताबों में शुमार किया जाता है। पर आज इस article में हम आपको इसी किताब की summary बताने वाले हैं ।

{tocify} $title={Table of Contents}

"Rich Dad Poor Dad" Book Summary in Hindi

"Rich Dad Poor Dad" Book Summary in Hindi [Robert Kiyosaki]


रिच डैड पुअर डैड किताब की कहानी लेखक रॉबर्ट कियोसाकी की अपनी खुद की life story पर आधारित है। इस किताब में वह अपने दो पिताओ के बारे में लिखते हैं, जिनमें एक उनके असली पिता है जिनको उन्होंने पुअर डैड का टाइटल दिया है और दूसरे उनके मुंह बोले पिता है जो कि असल में उनके एक दोस्त के पिता है और उनको उन्होंने किताब में रिच डैड का टाइटल दिया है।

दरअसल उनके असली पिता बहुत ही ज्यादा पढ़े लिखे और हार्ड वर्किंग इंसान है जो कि पेशे से एक टीचर होने के साथ ही financially काफी कमजोर है। इसीलिए रॉबर्ट किताब में उन्हें पुअर डैड कह कर बुलाते हैं।

वहीं दूसरी तरफ उनके मुंह बोले पिता सिर्फ आठवीं क्लास तक पढ़े हैं लेकिन फाइनेंशियल एजुकेशन मजबूत होने की वजह से वह अपने शहर के सबसे बड़े और सबसे अमीर बिजनेसमैन में शुमार किए जाते हैं। इसीलिए रॉबर्ट किताब मैं उन्हें रिच डैड कह कर बुलाते हैं।

इस पूरी कहानी में रॉबर्ट के रिच डैड उन्हें उनकी जिंदगी के अलग अलग पडा़व पर 30 साल तक छः ऐसी अहम शिक्षाएं देते हैं जो कि लाइफ में कामयाबी हासिल करने, अमीर बनने और हमेशा अमीर बने रहने के लिए बहुत ही जरूरी होती है।

रॉबर्ट के रिच डैड के द्वारा बताए गए 6 lessons दुनिया के किसी भी इंसान को अमीर और कामयाब बना सकता है। फिर चाहे वह इंसान कितना भी कम पढ़ा लिखा क्यों ना हो। तो चलिए अब हम आपको रॉबर्ट के द्वारा किताब में लिखी गई उन्हीं छः lessons के बारे में बताते हैं।


Lesson No 1. Rich Don't Work For Money, Money Work For Them


Robert के रिच डैड बताते हैं कि दुनिया के ज्यादातर लोग कई दशकों से एक विशेष तरह के circle में फंसे हुए हैं और वह इस सर्कल को Rat Race कह कर बुलाते हैं। दरअसल आज दुनिया के ज्यादातर लोगों की जिंदगी का मकसद सिर्फ अच्छे कॉलेज में पढ़ाई करना, अच्छी नौकरी ढूंढना, शादी करना और फिर जिंदगी भर अपनी सैलरी से घर और कार जैसी चीजों के लोन भरते रहना ही बन गया है।

लोगों को इस बात का एहसास ही नहीं होता की इस तरह के लाइफ में वे मेहनत तो सबसे ज्यादा करते हैं लेकिन उनकी मेहनत का फायदा किसी और को ही होता है। असल में बहुत से लोग इस Rat Race का हिस्सा बनकर नाखुश भी होते हैं। लेकिन फिर भी अपने मन की डर, लालच और जिम्मेदारियों की वजह से वे मजबूरी से इसका हिस्सा बने रहते हैं।

Rich Dad कहते हैं कि इंसान को सबसे पहले तो अपने डर को खत्म करके इस Rat Race से बाहर निकलना चाहिए और फिर कुछ ऐसा करना चाहिए जिसमें आप पैसे के लिए काम ना करें बल्कि पैसा आपके लिए काम करें। वह पुरानी कहावत है कि पैसा ही पैसे को खींचती है। ठीक उसी तरह आपको भी अपनी लाइफ में कुछ ऐसा करने की जरूरत होती है जिसमें आपका पैसा ही आपको कमा कर दे।


Lesson No 2. Keeping Money Is More Important Than Making It


दोस्तों दुनिया में आपको बहुत से ऐसे sportsman और सेलिब्रिटी देखने को मिल जाएंगे जो कि एक समय तो काफी अमीर हुआ करते थे। लेकिन आज उनके पास कुछ भी नहीं है। असल में लोग इस तरह अमीर से गरीब इसलिए हो जाते हैं क्योंकि उनमें फाइनेंशियल एजुकेशन की कमी होती है यानी उनके अंदर पैसे को maintain और grow करने का हुनर नहीं होता है।

रिच डैड इस financial illiteracy का example देते हुए कहते हैं की पूरी दुनिया में घर एक accets माना जाता हैं जबकि उनके अनुसार घर कोई accests नहीं बल्कि एक लायबिलिटी होता है।क्योंकि accets तो वह होता है जो आपके पैसे को समय के साथ-साथ और भी ज्यादा बढ़ा देता है, जबकि घर के मामले में आपको कई साल तक उसकी EMI और Loan चुकानी पड़ती है। जिसके चलते आपकी जेब में पैसा आता नहीं बल्कि सिर्फ जाता है।

रिच डैड सिर्फ उन चीजों को accets मानते हैं जो कि आपको घर बैठे पैसा कमा कर देती है। वे कहते हैं कि अमीर बनने के लिए सिर्फ पैसा कमाना ही काफी नहीं होता है बल्कि यह सीखना सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण होता है की पैसे को कमा कर उसको maintain और grow कैसे किया जाए।


Lesson No 3. Get In Your Business Along With Your Job


दुनिया में जब किसी इंसान को उसकी पसंदीदा जॉब मिलती है तो वह पूरी जिंदगी उसी को करने का मन बना लेता है और फिर बिना कुछ सोचे-समझे अपनी पूरी जिंदगी वह उसी जॉब को करने में बिता देता है।

रिच डैड कहते हैं कि दुनिया का कोई भी इंसान अगर चाहे तो वह अपने जॉब के साथ ही कोई दूसरा काम भी कर सकता है और बिना अपने जॉब को छोड़ें एक नए बिजनेस एंपायर का किंग भी बन सकता है।

अब इस बात को समझने के लिए हम दुनिया की सबसे बड़ी fast food chain mc donalds के फाउंडर री कराँक का उदाहरण ले सकते हैं। अगर हम लोगों में से किसी से भी यह सवाल पूछा जाए की री कराँक किस बिजनेस से पैसा कमाते हैं? तो फिर हम लोगों में से सभी लोगों का यह जवाब होगा की फास्ट फूड बिजनेस से। लेकिन असल में री कराँक का मुख्य बिजनेस फास्ट फूड नहीं बल्कि रियल स्टेट है। क्योंकि एमसी डॉनल्ड्स के बिजनेस को बड़ा करते करते वह आज पूरी दुनिया के अंदर सबसे बड़े रियल स्टेट ऑनर बन चुके हैं। यानी कि फास्ट फूड बिजनेस करने के साथ ही उन्होंने रियल स्टेट का एक ऐसा empire खड़ा कर दिया है जो कि आज उन्हें सच में अमीर बनाता है।

इसी तरह से एक आम आदमी भी अपनी जॉब को करने के साथ ही कुछ ऐसे accets और source of income create कर सकता है जो कि उसको पैसे कमा कर दें। इसके लिए राइटर के द्वारा कुछ example भी दिए गए हैं जिनमे बिजनेस शुरू करना, स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट करना, रियल स्टेट में पैसा लगाना और मुनाफा देने वाली प्रॉपर्टीज को खरीदना शामिल है।

इनमें से कोई भी एक तरीका अपनाकर आप अपने लिए एक नई सोर्स ऑफ इनकम बना सकते हैं। यहां तक कि रिच डैड तो हर एक व्यक्ति को ऐसा करने की सलाह देते हैं क्योंकि ऐसा करने पर ही इंसान सच में अमीर बनता है।

Lesson No 4. Taxes Are For Only Middle Class And Poors


इस lesson में रिच डैड टैक्स की history बताते हुए यह कहते हैं की टैक्स असल में अमीर और गरीब के बीच मौजूद फर्क को कम करने के लिए बनाया गया एक सिस्टम था यानी शुरुआत में सिर्फ अमीर लोग के ऊपर ही यह टैक्स लगता था और फिर टैक्स के उन पैसों को गरीबों की सुविधाओं में खर्च किया जाता था।

लेकिन समय के साथ धीरे-धीरे middle और upper-middle class पर भी टैक्स लगना शुरू हो गया और आज की अगर बात करें तो यह मामला पूरी तरह से उल्टा हो चुका है। क्योंकि आज अमीर लोग अपने दिमाग और चालाकी इस्तेमाल करके खुद को टैक्स देने से बचा लेते हैं और सरकार के खाते में जो सबसे ज्यादा टैक्स जमा होता है वह मिडिल और अपर मिडिल क्लास के द्वारा ही जमा किया जाता है।

बड़े बड़े अमीर बिजनेसमैन और उद्योगपति पहले पैसा कमाते हैं और फिर अपनी सभी जरूरतों और ख्वाहिशों को पूरा करने के लिए उन पैसों को खर्च करते हैं और अंत में अगर कुछ बचता है तो वे उस पैसे से टैक्स भरते हैं। जबकि वही मिडिल और अपर मिडिल क्लास के लोग पैसा कमाने के साथ ही टैक्स भी भरते हैं और फिर अंत में जो कुछ भी  बचता है उसको वह अपने ऊपर खर्च करते हैं।


Lesson No 5. The Rich Invent Money


जेफ बेजोस, बिल गेट्स, मार्क जकरबर्ग, एलोन मस्क और भारत की अगर बात करें तो धीरूभाई अंबानी, शिव नाडर और अजीम प्रेमजी यह कुछ ऐसे नाम हैं जो कि दुनिया के अंदर एक ऐसा बिजनेस या फिर कहे की ऐसा आईडिया लेकर आए जिसके बारे में इनसे पहले किसी ने भी नहीं सोचा था और अपने उसी रिवॉल्यूशनरी आईडियाज से इन लोगों ने पैसे को इन्वेंट किया है।

इससे पहले कि मार्केट में मौजूद किसी भी अवसर को कोई और व्यक्ति ढूंढ पाता इन लोगों ने उस अवसर को खोजा और उस पर तुरंत ही Action लिया। इसीलिए कहा जाता है कि इन लोगों ने पैसा कमाया नहीं बल्कि उसको इन्वेंट किया। क्योंकि यह दुनिया में उन चीजों को लेकर आये जो यहां पहले से मौजूद नहीं थी। इसी तरह आपको भी सिर्फ पैसा कमाने के बारे में ही नहीं बल्कि पैसे को इन्वेंट करने के बारे में भी सोचना चाहिए।


Lesson No 6: Rich Learns All The Time And Know How To Sell Their Ideas


अमेरिका में न जाने कितने ऐसे लोग मौजूद हैं जो कि मैक-डोनाल्ड के ही price मे ही उससे कहीं ज्यादा बेहतर बर्गर बना कर बेचते हैं। लेकिन अपने किसी प्रोडक्ट या आइडिया को बड़े स्तर पर किस तरह से बेचा जाता है इसकी समझ हर एक इंसान को नहीं होती है। तभी तो वह मैक-डोनाल्ड से अच्छा पिज़्ज़ा बर्गर बनाने के बावजूद भी उसको सिर्फ एक लिमिटेड एरिया या फिर लिमिटेड क्वांटिटी मे ही बेच पाते हैं। जबकि मैक-डॉनल्ड्स इसे पूरी दुनिया के अंदर बिना किसी लिमिट के अपने बर्गर बेचता है। असल में इस अंतिम lesson के जरिए लेखक हमे यह समझाते हैं कि अमीर इंसान कभी भी नई चीजें और नए skills को सीखना बंद नहीं करते है। इसी आदत के वजह से ही उन्हे हमेशा यह पता होता है कि अपने प्रोडक्ट या अपने आईडिया को दुनिया में बड़े स्तर पर किस तरह से बेचा जाता है।

अगर आप Rich Dad Poor Dad किताब को खरीदना चाहते हैं तो निचे दिए गए link पर क्लिक करें 



आज के इस article Rich Dad Poor Dad Book Summary in Hindi मे बस इतना ही। उम्मीद करता हूँ आप को यह पोस्ट पसंद आया होगा।

नोट: यदि आपके पास इस पोस्ट "Rich Dad Poor Dad Summary in Hindi" के बारे में अधिक जानकारी है या आप दी गई जानकारी में कुछ गलत पाते हैं या इससे संबंधित आप के पास कोई सुझाओ है, तो आप तुरंत हमें एक comment लिखें और हम इसे अपडेट कर देंगे।

अगर आपको हमारी जानकारी “Rich Dad Poor Dad Hindi Summary ” पसंद है, तो कृपया फेसबुक और अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर share करें।

यदि आप इस ब्लॉग पर अपना कोई आर्टिकल publish करना चाहते है (Guest Post) तो कृपया अपनी पोस्ट हमारे Email Id - [email protected] पर भेजें। पसंद आने पर आपकी पोस्ट fixxgroup.in पर प्रकाशित की जाएगी। अधिक जानकारी के लिए Guest Post Page पर जाएं।

आज का यह informative post "Rich Dad Poor Dad Book Summary in Hindi" पढ़ने के लिए धन्यवाद!


{"mode":"full","isActive":false}

Post a Comment

Previous Post Next Post